Saturday, August 13, 2022
Google search engine
HomeLifestyle22 साल की उम्र में शुरू किया स्टार्टअप, आज देश के अलग-अलग...

22 साल की उम्र में शुरू किया स्टार्टअप, आज देश के अलग-अलग राज्यों में कई चाय सुट्टा बार की फ्रेंचाइजी

जो लोग UPSC की तैयारी करते है, उनको एक अपनी जिंदगी में एक सरकारी नौकरी की चाह जरूर होती हैं। पर इंदौर के अनुभव दुबे ने सड़कों पर कड़क चाय बेचने का काम शुरू किया, उन्होंने सिर्फ 22 साल उम्र में अपना स्टार्ट अप शुरू किया है। आपको बता दें, अनुभव व्यवसायी परिवार से हैं। इसी कारण उन्होंने यूपीएससी के साथ साथ सड़क किनारे कुल्हड़ में चाय बेचना शुरू किया, उनका चाय का बिजनेस शुरू करना अनुभव के लिए फायदेमंद रहा क्योंकि उनका मनना था चाय एक पोटेंशियल प्रोडक्ट और की पहली ज़रूरतों भी। इसलिए उन्होंने 2016 में शुरुवात की।

अनुभव को चाय और कॉफी का बिजनेस शुरू करने का मन आया। लेकिन उनके पिता नहीं चाहते थें, वह यह करें। अनुभव ने अपने पिता को बिना बताए चाय के बिजनेस की शुरुआत किया, फिर बाद में उनके पिता को सोशल मीडिया द्वारा यह बात पता चली।

पिता को नहीं बताने के कारण उन्हें अपने दोस्त आनंद नायक से पैसों की मदद ली। आनंद ने अनुभव को 300, 000 रुपए का मदद किया। इन पैसों से अनुभव ने अपना दूकान का काम शुरू किया। उन्होंने उस पैसों को दूकान का किराया और मेनटेंस में पूरा खर्च हो गया। उसके बाद बैनर लगाने के लिए पैसे नहीं बचे, जिस कारण चाय बेचने का नया तरीक़ा ढूँढना पड़ा।

फिर उन्होंने दुकान के बाहर टेबल और कुर्सी लगाकर लोगों को कुल्हड़ में चाय बेचना शुरू किया फिर तब बैनर लगाने के पैसे इकट्ठा हुए। अपनी दुकान का नाम Chai Sutta Bar रख दिया, जो काफ़ी आकर्षक लगता है। अनुभव दुबे की चाय की दुकान का लोकेशन ऐसी जगह थीं, जहां भीड़ इकट्ठा हो सकें। उन्होंने इंदौर में गर्ल्स हॉस्टल के सामने Chai Sutta Bar की शुरु किया।

आज अनुभव का कारोबार पूरे देश भर में फैल चुका है। देश के अलग-अलग राज्यों में इस चाय सुट्टा बार की फ्रेंचाइजी मौजूद है।Chai Sutta Bar की अनोखी बात यह है कि इस आउटलेट में दिव्यांग और शारीरिक रूप से असक्षम व्यक्तियों को प्राथमिकता दी जाती है, ताकि वह इस जगह पर काम करके रोज़गार प्राप्त कर सके।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments